September 30, 2022
Home » अखिलेश यादव

अखिलेश यादव

जाने-माने उर्दू शायर जनाब बशीर बद्र साहब का एक शेर है- “कुछ तो मजबूरियां रही होंगी,यूँ ही...
आजकल राजनीतिक गलियारों से लेकर आतंकियों के महलों तक “बाबा का बुल्डोजर” की चर्चा हो रही है।...
हाल ही में समाजवादी पार्टी की ओर से जारी एक ट्वीट में कहा गया, “भाईचारे और सद्भावना...
सर्दी में गरीबों को रजाई- कम्बल और चांदपुर में सपाइयों को सिम्बल की बहुत जरूरत है। जिसे...